Business News, प्रधानमंत्री ने सरकारी कंपनियों के निजीकरण किया

प्रधानमंत्री ने सरकारी कंपनियों के निजीकरण पर दिया जोर, कहा- सरकार का काम नहीं है बिजनेस करना |

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी p c : aniपीएम ने कहा सरकार जिस मंत्र को लेकर आगे बढ़ रही है वो है मोनेटाइज और मॉर्डनाइज। जब सरकार मोनेटाइज करती है तो उस स्थान को देश का प्राइवेट सेक्टर भरता है। प्राइवेट सेक्टर अपने साथ निवेश भी लाता है और वैश्विक स्तर की बेहतर प्रैक्टिस को भी लाता है।

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि सरकार का बिजनेस यह नहीं है कि वह बिजनेस में रहे। पीएम ने कहा कि उनका प्रशासन चार रणनीतिक क्षेत्रों में कुछ को छोड़कर सभी सरकारी कंपनियों का निजीकरण करने के लिए प्रतिबद्ध है। पीएम ने कहा, ‘यह सरकार का कर्तव्य है कि वह उद्योगों और कारोबारों का सहयोग करे, लेकिन यह आवश्यक नहीं है कि सरकार खुद कारोबार का स्वामित्व अपने पास रखे और उसे चलाए।’

प्रधानमंत्री निवेश एवं सार्वजनिक संपत्ति प्रबंधन विभाग (DIPAM) द्वारा निजीकरण विषय पर आयोजित एक वेबिनार में बोल रहे थे। यहां पीएम ने कहा, ‘हमारी सरकार का प्रयास लोगों के जीवन स्तर को सुधारने के साथ ही लोगों के जीवन में सरकार के बेवजह के दखल को भी कम करना है। यानि जीवन में ना सरकार का अभाव हो, ना सरकार का प्रभाव हो।’

पीएम ने कहा, ‘सरकार जिस मंत्र को लेकर आगे बढ़ रही है, वो है मोनेटाइज और मॉर्डनाइज। जब सरकार मोनेटाइज करती है, तो उस स्थान को देश का प्राइवेट सेक्टर भरता है। प्राइवेट सेक्टर अपने साथ निवेश भी लाता है और वैश्विक स्तर की बेहतर प्रैक्टिस को भी लाता है। इससे चीजें और मॉर्डनाइज होती हैं, पूरे सेक्टर में आधुनिकता आती है, सेक्टर का तेजी से विस्तार होता है और रोजगार के नए अवसर भी पैदा होते हैं।’

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.