यूपी विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस प्रत्याशियों की पहली सूची इसी माह

यूपी विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस प्रत्याशियों की पहली सूची इसी माह, जानें-लिस्ट में होंगे कितने नाम |

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस पार्टी अपने प्रत्याशियों की पहली सूची इसी माह जारी करेगी।

कांग्रेस पार्टी ने विधान सभा चुनाव के टिकट के लिए इच्छुक उम्मीदवारों से आवेदन आमंत्रित किये थे। प्राप्त आवेदनों की स्क्रीनिंग के लिए पार्टी की इलेक्शन स्क्रीनिंग कमेटी जोनवार बैठकें कर आवेदकों से साक्षात्कार कर रही है। कमेटी उनका रिकार्ड भी देख रही है।

लखनऊ [राज्य ब्यूरो]। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस पार्टी अपने प्रत्याशियों की पहली सूची इसी माह जारी करेगी।

पार्टी की घोषणा के मुताबिक उम्मीदवारों की पहली सूची में महिलाओं को 40 फीसद टिकट दिए जाएंगे। पहली सूची में सौ से सवा सौ प्रत्याशियों के नाम होने की संभावना है।

कांग्रेस पार्टी के महिला घोषणा पत्र को बीती आठ अगसत को जारी करते हुए पार्टी महासचिव व प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी जल्द प्रत्याशियों की पहली सूची जारी करने का संकेत दिया था। उससे पहले प्रदेश कांग्रेस कमेटी कार्यालय में चुनाव अभियान समिति के साथ बैठक की थी। बैठक में भी कई सदसयों ने भी यह सुझाव दिया था कि टिकट जल्दी घोषित कर दिए जाएं।

कांग्रेस पार्टी ने विधान सभा चुनाव के टिकट के लिए इच्छुक उम्मीदवारों से आवेदन आमंत्रित किये थे।

प्राप्त आवेदनों की स्क्रीनिंग के लिए पार्टी की इलेक्शन स्क्रीनिंग कमेटी जोनवार बैठकें कर आवेदकों से साक्षात्कार कर रही है। कमेटी उनका रिकार्ड भी देख रही है और चुनाव लड़ने के लिए दमखम परख रही है। इसमें खासतौर पर कांग्रेस पार्टी की ओर से नौ और 10 अगस्त को चलाये गए प्रदेशव्यापी भाजपा गद्दी छोड़ो अभियान, 19 से 21 अगस्त तक चले जय भारत महासंपर्क अभियान और प्रतिज्ञा यात्राओं में आवेदकों की सक्रियता व भागीदारी पर गौर किया जा रहा है। पार्टी की सांगठनिक गतिविधियों में उनके योगदान का मूल्यांकन भी किया जा रहा है।

गौरतलब है कि भाजपा गद्दी छोड़ो आंदोलन के तहत कांग्रेस की ओर से प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में महंगाई, बेरोजगारी और सरकार की नीतियों के खिलाफ पांच किलोमीटर लंबा पैदल मार्च आयोजित किया गया था। वहीं जय भारत महासंपर्क अभियान के तहत पार्टी पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को वार्डों और ग्राम सभाओं में 75 घंटे के प्रवास के दौरान कई तरह की गतिविधियों में हिस्सा लेना था। स्क्रीनिंग कमेटी ने गोरखपुर, अयोध्या, कानपुर, झांसी, गाजियाबाद, मेरठ, मुरादाबाद जोन में बैठकें कर ली हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.